वक़्त

ए वक़्त रुक जा कुछ ओर वक़्त के लिए, अभी तो हमने जीना सीखा है। कह सके सीना तान! कि हमने भी, ज़माने को करीब से देखा है। dark_anki Continue reading वक़्त

गुजरे हुए वक़्त!

ए मेरे गुजरे हुए वक़्त, तुझे आज भी याद करता हूँ, एक पल हंस देता हूँ, और अगले पल संग बिताए उन, लम्हो के लिए रो भी लेता हूँ! ए मेरे गुजरे वक़्त मैं, आज भी तुझे याद करता हूँ। dark_anki Continue reading गुजरे हुए वक़्त!

आसमा!

बेवजह, वजह गिनाने चले थे, हम चांद को गवाह बनाने चले थे, गुजारिश की थी उन लाख तारों से भी, आसमां को इंसाफ दिलाने चले थे। dark_anki Continue reading आसमा!