Zero

It’s been a long time since I wrote. I was waiting for something that will blow your mind away, I was waiting for some moment any motivation and what I could do was wait. Till this moment, when I said to myself stop waiting! Wait for what? You gotta believe in yourself. It’s not something … Continue reading Zero

खुद की ही तलाश..।

एक अपना ही जहां उसका, खुश रहता था जिसमे हर समा, एहसास हुआ कि, हक़ीक़त नही वो, फिर भी राह ताके इंतेज़ार करता रहा..! मंज़र वो देख खुदा का दिल न पिघला, खुद में ही टूट गया उसका बाशिंदा..! टूटी वो आखिरी उम्मीद जो उपर वाले से था लगा बैठा, पंख टूट गए फिर भी … Continue reading खुद की ही तलाश..।