Childhood

Time was insane, didn’t know, pain Life full of colour, distant from odour Innocent dreams took regular flight,  Anxiety to dark, uncertain to light He wander on random ways Buoyant, neither trust nor betray Enjoying, some time being furious  And for all little things, it’s to be curious Do what we love, no responsibility  Don’t … Continue reading Childhood

वो आएगा

मैं खोज मैं निकला था एक कहानी के, घूमते घूमते कश्मीर की वादियों मैं आ पहुंचा, कश्मीर की खूबसूरती बयान करना मेरी कलम के, बस मैं नहीं, आने से पहले डर भी रहा था, कश्मीर के बारे मे जानकर, पर मैं उस जगह से काफी दूर था, शांतिप्रिय और अतिसुन्दर जगह है ये, यहां हर … Continue reading वो आएगा

“आत्मसम्मान”

एक बार एक नदी थी, बहुत चंचल और शांत थी, कभी इस तो कभी उस किनारे पे झूलती थी, किनारा उसे कुछ भी सुना देता था, तो वो कुछ समेटे और कुछ बखेरते निकल लेती थी, बूंदों को उसकी ये बात अच्छी न लगती थी, और बूंदों मैं नदी की जान बसती थी,  एक समय … Continue reading “आत्मसम्मान”

Survival

In the boiling hot day, when we don’t even think to came out of room, and the hotness cook our mind and our nose start to whistle like cooker, and even sometimes we feel sick due to this scorching day, these guys who came from Bihar, leaving their family back, to find out work, so … Continue reading Survival

The Mad

He had soft heart and thought everyone is good on earth, a girl came in his life, use him, broke expectations, jokes become for his feelings, then he felt anxiety to show feelings, demonstrate arrogance character, start to live free, like water flows without caring whom it is taking with itself,  taught others “no expectation” … Continue reading The Mad

गलती

क्या है गलती मेरी, अगर हुँ मैं एक लड़की, नन्ही सी चिड़िया की, बस उड़ने की ख्वाहिश थी न किसी से दोस्तीे, न है कोई बैर, दुनिया देख न पाती, होती न अगर थोड़ी देर, न मेने कुछ मांगा, ना मांगूंगी कभी, किसी के प्यार का हक़ था, बस तलाश रही वही, सोच रही, क्या … Continue reading गलती