बात पते की

बैठो संग मेरे, बात कहूं इक पते की, राज़ नहीं, पर लोगो ने है आंखें मूंद ली, बन्दर बन से रह रहे, वो “गाँधी” के तीन, चुप तो यूँ है, जैसे जीभ ली हो इनकी छीन, गला रौंदते रहे, पर बोला न मेरा फौजी भाई, बेटा वो किसी का, इक बेटी की परछाई, तिरंगा बन … Continue reading बात पते की

सुबह के इंतेज़ार में

पग-पग बढ़ता मैं, सुबह के इंतेज़ार में, धूप की आशा छोड़, किरणों की आस में। दरख्तों से सुनते, पत्थर पे घिसते, लहर जैसे बह रहा हुँ मैं। हर मोड़ एहसास दिलाते, माँ की बातें, हवा के संग चल रहा हुँ मैं। एक सुकून की आस में, सुबह के इंतेजार में। बंधी है बेड़ियां, अंधेरा हर … Continue reading सुबह के इंतेज़ार में

मैं नहीं जानता

सत्य क्या, असत्य क्या, मैं नहीं जानता। कौन अपना, कौन पराया, सुंदर किसकी काया, पैसो की कैसी माया, रिश्तों के फ़रेब, खाली होती जेब, किस थाली में छेद, कैसा है देश, मैं नहीं जानता। अतीत था क्या, भविष्य में होगा क्या, किसका आया, किसका गया, किसके पुण्य, किसके पाप कौन छोड़ रहा, किस पे कैसी … Continue reading मैं नहीं जानता

सुकून

तोड़ के पिंजरा, जब वो निकला, आंखों मैं आए आँसु, दिल ने रोका, उड़ने दो, इसे अब नीले गगन मैं, जितना उड़ता जाएगा, खुद को अकेला पाएगा, इक न इक दिन, यादों में तेरी फिर, किसी मोड़ पे, भूला लौट आएगा, राह देखे उसकी, आंखें सूख गई, छोटे से इस आंगन में, परछाई भी न … Continue reading सुकून

क्या हो तुम

ये हो, वो हो, आखिर, क्या हो तुम मेरे लिए, तुम चाँद हो, मैं चांदनी, तुम फूल मैं, भंवरा, तुम पेड़, मैं जड़ तम्हारी, तुम घर में, नींव तम्हारी, तुम नाव, मैं पतवार, तुम आर मैं, पार, तुम सुबह, मैं शाम, तुम सूरज, मैं रोशनी, तुम इक किनारा, मैं नदी, तुम हो पानी, मैं आग, … Continue reading क्या हो तुम

Let My Soul Free

Aversion to be millionaire, No more want to be hire, Anxious to be confined, Years ago my soul died, Hatred for word, optimist, Avoiding to be philonthropist, No more, burden of depriciate, Dying wish, to be obliterate, Among crowd, no one saw, Everyone treated as outlaw, Whatever your fee, Let me see, I am going … Continue reading Let My Soul Free

Travel

I have had travel twenty years alone, on this path called life, experienced a lot, but still there is so much to learn, so much to know, revealing truth and lies, but still some remains unanswered, felt enormous emotions but still some left unfelt, walking on unknown path, keeping patience for falling of curtain, from … Continue reading Travel